-->

Valentine's Week List 2020 - Rose Day, Hug Day, Kiss Day ...

Valentine Day

वेलेंटाइन डे - प्रत्येक वर्ष 14 फरवरी के दिन वेलेंटाइन डे मनाया जाता है। वेलेंटाइन डे को प्रेम दिवस के रूप में भी जाना जाता है। यह दिन प्रेमी युगलों के लिए एक उत्सव की तरह होता है, जब खास तौर से अपने प्रिय को प्रेम अभिव्यक्त किया जाता है।
वेलेंटाइन डे भले ही 14 फरवरी के दिन मनाया जाता है, लेकिन इसका उत्साह माह की शुरुआत से ही युवाओं में होता है। वेलेंटाइन डे के एक सप्ताह पहले यानि 7 फरवरी से ही वेलेंटाइन सप्ताह शुरु हो जाता है, जिसका हर दिन प्रेम का प्रतीक एवं इसी थीम पर आधारित होता है। 7 फरवरी रोज डे से वेलेंटाइन सप्ताह शुरू होता है, और 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे तक प्यार के एहसास के साथ मनाया जाता है।हालांकि बाद में इसमें कुछ और भी दिन जोड़ दिए गए जिसके अनुसार यह उत्सव ब्रेकअप दिवस पर समाप्त होता है, लेकिन अभी इनका चलन उतना नहीं है। 
वेलेंटाइन सप्ताह-


वैलेंटाइन सप्ताह के प्रत्येक दिन का महत्व

रोज डे :- वेलेंटाइन डे यूं तो दो दिलों में छुपे मोहब्बत के एहसास को बांटने का खास मौका है। लेकिन इसकी शुरुआत होती है, रोज डे से, जब यह सतरंगी इश्क गुलाब के खूबसूरत रंगों में सिमटता है, और फिर पहुंचता है एक दिल के जज्बात दूसरे तक, खुशबू बनकर। लेकिन आपके इन जज्बातों को और भी बेहतर तरीके से बयां करते हैं, गुलाब के अलग-अलग रंग....हर रंग कुछ कहता है...

  प्रपोज डे  :- 8 फरवरी को प्रपोज डे  है। आपको पता ही होगा कि हम वेलेंटाइन वीक सेलिब्रेट कर रहे हैं। इस वीक का दूसरा दिन है प्रपोज डे। जैसे समय के साथ प्रेम की परिभाषा बदली है, ठीक उसी तरह बदलते दौर के साथ-साथ प्यार का इजहार करने के तरीके भी बदले हैं।

 

चॉकलेट डे:- सप्ताह का तीसरा दिन है 'चॉकलेट डे' है। इस दिन अपने प्रेमी-प्रेमिका व किसी खास को चॉकलेट देने का खास महत्व होता है। अगर ये चॉकलेट अपने हाथों से बनाकर किसी को गिफ्ट की जाए तो बात ही अलग है। चॉकलेट को घर पर बनाना उतना मुश्किल भी नहीं है।

टेडी डे :- भई अपने वेलेंटाइन को खुश करना है, तो उसकी पसंद का ख्याल तो रखना ही होगा। और जब बात हो अपनी वेलेंटाइन डे कि, तो टेडीबियर के बगैर सवाल ही नहीं उठता। आपकी गर्लफ्रेंड को भी टेडबियर जरूर पसंद होगा। अगर ऐसा है, तो समझ लीजिए कि उनका दिल जीतने के लिए एक प्यारा, क्यूट और सॉफ्ट सा टेडीबियर ही काफी है। 
टेडीबियर और प्यार के बीच एक और भी रिश्ता है, वो है कोमलता का। यकीनन आप भी अपने साथी के प्रति प्यार की कोमल भावनाओं को अभि‍व्यक्त करने के लिए टेडीबियर से कोमल उदाहरण नहीं दे पाएंगे। हुआ न यह रिश्ता बेहद गहरा और कोमल ! बस इसलिए ही टेडीबियर, प्यार और वेलेंटाइन वीक का अहम हिस्सा है। तो आप कैसा टेडी देने वाले हैं, अपनी वेलेंटाइन को ?

प्रॉमिस डे :- प्रॉमिस डे यानि वेलेंटा‍इन सप्ताह का पांचवा दिन। कसमें और वादे तो प्यार के रिश्ते की पुरानी पहचान रहे हैं, इनके बगैर प्रेम का यह सप्ताह कैसे पूरा हो सकता है। इसलिए प्यार का पांचवे दिन यानि 11 फरवरी को हर साल प्रॉमिस डे भी मना लिया जाता है, ताकि प्रेम को प्रदर्श‍ित करता वेलेंटाइन सप्ताह अधूरा न रह जाए।बहुत से युवा इस दिन अपने दिलबर से कोई वादा करते हुए अपने प्यार की शुरुआत करते हैं। ऐसा नहीं है कि यह वीक चाहने वालों के लिए ही बना है। यार-दोस्तों में आपस में भी इस वीक को लेकर बहुत उत्साह रहता है। युवा अपने दोस्तों के लिए भी उपहार आदि खरीद कर अपनी दोस्ती पक्की करते हैं और प्रॉमिस डे पर उन्हें कोई ऐसा वादा करते हैं जो वह हमेशा निभा सकें। रिश्ता कोई भी हो पक्का वादा ही उसे मजबूत बनाता है।

हग डे :- 12 फरवरी यानि हग डे, अपने वेलेंटाइन को गले लगाकर प्यार के एहसास से भर दीजिए और अपने करीब होने का एहसास दिलाइए।प्यार की झप्‍पी में ऐसा ही जादू होता है कि बेगाना भी एक पल में अपना बन जाता है और अपना दि‍ल के और करीब आ जाता है। गम हो या खुशी, सक्सेस हो या डि‍फीट, हम अपने सारे इमोशंस को एक्सप्रेस करने के लि‍ए 'हग' का सहारा लेते ही हैं। कोई अपना अगर प्यार से गले लगा ले तो सारे गम दूर हो जाते हैं और खुशी चौगुनी हो जाती है। ऐसा ही जादू होता है इस 'प्यार की झप्पी' में

किस डे :- 13 फरवरी यानि वेलेंटाइन सप्ताह का सातवां दिनकिस डे। प्यार की अभिव्यक्ति का वह तरीका जो साथी के अंतर्मन को करीब से छूता है, और पहला चुंबन हो तो यह हमेशा के लिए यादगार हो जाता है।

वेलेंटाइन डे :- और अंत में आता है साल का वो दिन जिसका सभी को बेसब्री से इंतजार होता है खास कर युवाओं को, वेलेंटाइन डे | इस दिन हर व्यक्ति अपने प्यार का इजहार करता है उसे अपने दिल की बात बताता है उसके लिए गिफ्ट ले जाता है और उसे खुश करने के लिए हर तरीका अपनाता है और उसे स्पेशल फील कराता है लेकिन यदि सामने वाला व्यक्ति उसके लिए ऐसा कुछ फील नहीं करता है तो उसे मना कर सकता है |

वैलेंटाइन डे का इतिहास:-
वेलेंटइन डे की शुरुआत अमेरिका में सेंट वेलेंटाइन की याद में हुई थी। सर्वप्रथन यह दिन अमेरिेका में ही मनाया गया, फिर इंग्लैंड में इसे मनाने की शुरुआत हुई। इसके बाद यह पूरे विश्व में धीरे-धीरे मनाया जाने लगा। कुछ देशों में इसे अलग-अलग नामों के साथ भी मनाया जाता है। चीन में इसे 'नाइट्स ऑफ सेवेन्स' वहीं जापान व कोरिया में 'वाइट डे' के नाम से जाना जाता है और पूरा फरवरी माह प्रेम का महीना माना जाता है। भारत में वेलेंटाइन डे मनाने की शुरुआत सन 1992 के लगभग हुई थी, जिसके बाद इसका चलन यहां भी शुरू हो गया। 
वेलेंटाइन-डे मूल रूप से सेंट वेलेंटाइन की याद में मनाया जाता है। हालांकि सेंट वेलेंटाइन के बारे में ऐतिहासिक तौर पर अलग-अलग मत देखने को मिलते हैं। 1969 में कैथोलिक चर्च ने कुल ग्यारह सेंट वेलेंटाइन के होने की पुष्टि की और 14 फरवरी को उनके सम्मान में पर्व मनाने की घोषणा की। इनमें सबसे महत्वपूर्ण वेलेंटाइन रोम के सेंट वेलेंटाइन माने जाते हैं। ऐसा भी कहा जाता है कि सेंट वेलेंटाइन ने अपनी मृत्यु के समय जेलर की नेत्रहीन बेटी जैकोबस को अपनी आंखें दान कर दी थी और साथ ही एक पत्र भी लिखकर छोड़ा था जिसमें अंत में उन्होंने लिखा था 'तुम्हारा वेलेंटाइन'। सेंट वेलेंटाइन के इस निस्वार्थ प्रेम और त्याग ने भी लोगों का दिल जीता। तभी से उनकी स्मृति में प्रत्येक वर्ष 14 फरवरी को प्रेम दिवस मनाया जाता है। 

Post a Comment

4 Comments